मिस्त्री का बेटा मोहम्मद चांद बना बिहार का टॉपर, भूखे रहे माँ बाप और बच्चे का पेट पाला, जानिए सफलता की कहानी

इंसान की जिंदगी में हर तरह के मोड़ आते है और सभी तरह की परेशानी को इंसान के सामने भी आती है। किशनगंज के इंटरमीडिएट के छात्र मोहम्मद चंद ने भी बिहार बोर्ड के परीक्षा में कॉर्मस विषय मे 470 अंक लाकर दूसरा स्थान प्राप्त किया है।

मो. चंद शहर के नवाबगंज के रहने वाले है। उनके पिता वसी अहमद पेशे से मिस्त्री है। चांद ने कड़ी मेहनत और परिश्रम से ये मुकाम हासिल किया है। मो. चांद ने अपनी इस उपलब्धि का श्रेय अपने माता पिता को देते हुए बताया है कि वह यूपीएससी की तैयारी करके आईएएस या आईपीएस बनकर देश सेवा भी करना चाहता है।

mohd chand

उन्होंने बताया है कि उनकी जिंदगी काफी ज्यादा परेशानी में बीती है। उन्हीने बताया है कि मेरे माँ बाप ने खुद भूखे रहकर हमें खाना खिलाया है और पढ़ाया भी है। मो. चांद के पिता वसी अहमद ने बताया है कि उनके इस उपलब्धि से उनके पिता अब गर्व से ऊंचे हो गए है।

मो. चांद की माँ नूरी बेगम ने बेटे की इस उपलब्धि के लिए उसकी कड़ी मेहनत का श्रेय बताया है। उन्होंने बताया है कि परीक्षा के दौरन बेटा रात रात भर जागकर पढ़ाई करता था और उस वजह से हमेशा ही हर क्लास में फर्स्ट भी आता है।

mohd chand

इस साल 13.40 लाख स्टूडेण्यसने परीक्षा दी थी।इसमेंसे 78.04 फीसदी छात्र पास भी हुए है। इसमें कला वर्ग से 77.97 प्रतिशत स्टूडेण्य पास भी हुए है। वाणिज्य में 91.48 प्रतिशत पास हुए है। वही विज्ञान में 76.28 फीसदी छात्र पास हुए है।

Leave a Comment