LLB का ए’ड’मि’श’न लेने गया था मो’ह’सि’न खान, छात्र बोले -तू तो मु’स्लिम है, पा’कि’स्ता’न चला जा..

क्या भारत मे रहने के लिए, खा’ने के लिए सवाल उ’ठाए जाते है, उंसके प’हनावे पर सवा’ल दा’गे जाते है, उसका ध’र्म पू’छ’क’र उसकी पि’टा’ई की जाती है । ध’र्म के नाम पर हो रही ना जाने कितनी मौ’ते हमने पिछले 4-5 सा’लों में देखी है। एक ऐसा मा’म’ला सामने आया है जिसको सुनकर आप है’रान जरूर होंगे । क्या आप सोच सकते है पढ़ाई में भी मु’स्लि’म आ सकता है ? न’ही ?

तो आप पूरी तर’ह ग’लत है । आज हम आपको ऐसा ही वाकया बताने जा रहे है जिसको सुनकर आप दं’ग रह जा’येगे’। मु’स्लि’म है तो इसको प’कि’स्ता’न भेज दो। एक ऐसा ही मामला हमारे सामने आता है’ मो’ह’सि’न खा’न का। मोहसिन खान था’ना किला परी’क्षित गढ़ में खजुरी गांव के रहने वाले है। आइये जानते है कि किस तरह इनके साथ भे’द’भा’व किया गया है। उत्तर प्रदेश में भा’ज’पा की स’रका’र है।

जहा पर मु’ख्य’मंत्री आदि’त्यना’थ है। लेकिन मु’स्लि’म स’माज की क्या ह’की’कत है। इस पूरे मा’म’ले से आपको पता च’ल जाएगा। मे’र’ठ कॉ’लेज में एड’मिशन लेने आए एक मु’स्लि’म छा’त्र को इस व’जह से एड’मिश’न नही किया क्योंकि वो मु’स’ल’मा’न था। उसके साथ कॉ’ले’ज के छा’त्रों ने ज्या’दती भी की और उसको वहां से ध’क्का मु’क्की करके नि’का’ल दिया।

उससे कहा कि तू आ’तं’क’वा’दी है। तुझे पा’कि’स्ता’न जाना चाहिए। मो’ह’सि’न खा’न ने दि’ल्ली जा’मिया मि’लिया से ग्रेजुएशन किया है। उनका मेर’ठ कॉ”लेज में एल’एलबी का स’लेक्शन हुआ था। वो एड’मिशन लेने के लिए आए थे। जैसे ही उनका नाम फॉ’र्म में देखा तो उनके साथ अ’प’मा’न किया गया।इस घटना के बाद लोगों का कहना है कि सरका’र इस पर कोई का’नू’न क्यों नही बनाती है।

सिर्फ इसलिए उसको एड’मिशन नही दिया कि वो मु’स्लिम है। उससे कहा गया कि तू चला जा यहां से। मो’ह’सिन घ’बरा गया। बाहर आके देखा तो डा’यल खड़ी 100 पु’लि’स’क’र्मी को सारी बात बताई। पुलिस ने मो’ह’सि’न से पूरी जानकारी लेने के लिए थाने लेकर गई और अ’ज्ञा’त छा’त्रों के खिलाफ रिपो’र्ट लिखवाई। मो’ह’सि’न को सु’र’क्षित उसके घर पहुँचा दिया गया है..साभार – janman tv

Leave a Comment

close