मदरसा विवाद: जब आजमगढ़ के मदरसे में पढ़ने वाले मौलाना ने पास की UPSC परीक्षा, जानिए

असम में मदर’सों को बन्द करने के बाद मद’रसों पर तरह तरह के इ’ल्जाम लग रहे है । मद’र’सों पर इ’ल्जा’म पहली बार नही लग रहे है, हमें अक्सर सुनने को मिलता है मदर’सा ल’व जि’हाद का अड्डा है , मदर’से में ये पढ़ाया जाता है ये नही पढ़ाया जाता है । दरअसल मदरसे को लेकर सोशल मीडिया पर तरह तरह की बात की जा रही है । यह पहली बार नही है जब म’दर’से पर उंगली उठाई जा रही है ।

मदर’सों को लेकर हो रही सि’यास’त के बीच अक्सर ये कहा जाता है कि मदर’से दुनिया’वी ताली’म का अहम हिस्सा है । इसकी एक शानदार मिसाल बीते साल अप्रैल में देखने को मिली थी । यूपी के आजमगढ़ के एक मदर’से में पढ़े मौला’ना ने देश की सबसे कठिन परीक्षा को पास कर इतिहास रचा था । गौरतलब है कि असम में म’दरसों को बन्द करने को लेकर विवा’द काफी हो रहा है ।

moulana shahid raza upsc

आजमगढ़ में अल जेमुताल अशरफिया मदरसे में तालीम हासिल करने वाले मौलाना शाहिद रज़ा खान ने पढ़ाई की । इसके बाद उन्होंने जेएनयू से अरबी और पश्चमी एशिया विषयों पर पीएचडी की । लेकिन इसी बीच यूपीएससी पास करने का कठिन लक्ष्य को उन्होंने सामने रखा ।

मौलाना शाहिद रज़ा ने यूपीएससी 2019 में कठिन परिश्रम कर पास की और उनकी आल इंडिया 751 रैंक आई । बता दे, शाहिद रज़ा के 4 भाई है जिनमे सबसे बड़े भाई डॉक्टर आबिद अली और 3 भाई अरब देश मे नॉकरी करते है । उनकी पिता सीसीएल बोकारो में सुपरवाइजर के पद पर तैनात थे जो अब रिटा’यर हो चुके है ।

moulana shahid raza upsc

बता दे,शाहिद ने यूपीएससी परीक्षा को दुसरे प्रया’स में पास की थी । यूपीएससी परीक्षा में पास होने के बाद वो सुर्ख़ियो में आए थे । इससे पहले मौलाना शाहिद रज़ा उस वक़्त सुर्ख़ि’यो में आए थे जब नजी’ब अह’मद जेनए’यू से गा’यब हुए थे । बता दे, नजी’ब के केस शाहिद रज़ा गवा’ह थे और वो आखिरी तक इस के’स में ड’टे हुए थे ।

Leave a Comment