मु’स्लिम परिवार ने किया हिन्दू महिला का अंतिम सं’स्कार, पूर्व मुख्यमंत्री बोले- मुस्लिमों पर गर्व है

दुनिया भर के अधिकतर देश क्रो’ना सं’कट से जूझ रहे है । दुनिया भर में अब तक 1 लाख से अधिक मौ’त हो चुकी है जबकिं 15 लाख से अधिक लोग सं’क्र’मि’त हो चुके है । जहा एक ओर दुनिया भर के देश सं’क्र’म’ण से लोगों को राहत पैके’ज , स्वा’स्थ्य देने की पूरी कोशिश मे लगे हुए है तो वही दूसरी ओर कुछ देशों से ऐसी ऐसा तस्वी’रे आ रही है जिसको देखकर सब है’रान है ।

हमारे देश मे न’फ’रत फै’ला’ने वालों की कमी नही है तो दूसरी तरफ आपसी न’फर’त ‘फै’ला’ने के बाद भी एक आपसी सौहार्द , दिल को सुकून देने वाली खबर सामने आरही है। जिससे भारत की एकता अखंडता और भाईचारे का अंदाजा लगाया जा सकता है।इंदौर के तोड़ा जूना गणेश मंदिर के पास में एक बुजुर्ग महिला रहती थी। जिन्हें मोहल्ले वाले दुर्गा माँ बुलाते थे। कुछ दिनों से वो बीमार थी । उनकी मौ’त हो गई ।

इस बीच मु’स्लिम परिवार के लोगो ने उनका अंति’म सं’स्कार करवाया। उनके 2 लड़के है वो कही और जगह पर रहते है। जब उनको बुलाया गया तो उनके पास पैसे नही थे। वो अं’तिम सं’स्कार करवा सके। मोहल्ले के अकील भाई,असलम भाई, मुदस्सर भाई, राशिद इब्राहीम और इमरान सिराज आदि लोगो ने दुर्गा माँ का अंतिम सं’स्का’र करवाया।

इसे लेकर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर कहा है कि यही हमारी गंगा जमुना तहजीब है। इंदौर के नार्थ तोड़ा क्षेत्र में एक बुजुर्ग हिन्दू महिला द्रोपदी बाई की मौ’त होने पर मु’स्लि’म समाज के लोगो ने उनके दोनों बेटों का साथ देकर उनकी श’वया’त्रा में कं’धा देकर और उनके अंति’म संस्का’र में मदद कर । जो सद्भाव की मानवता पेश की है वो काबिले तारीफ है।

मु’सल’मानों ने इस बात पर एक सुनहरी इबारत लिखी है जो दुनिया मे बहुत कम देखने को मिलती है। आज के इस मा’हौल में जब दुर्गा माँके लिए मु’स्लि’मो ने जो काम किया है वो उन न’फ’रत फै”लाने वालो के मुह ओर एक तमाचा है जो हि’न्दू मु’स्लिम को बाटकर अपनी राज’नीति करते है।

Leave a Comment

close