सरकारी स्कूल की 23 मुस्लिम छात्राओं ने पास की NEET परिक्षा, इलेक्ट्रिशिअन की बेटी बोली- मैं अपनी सफलता का श्रेय ….

बीते दिनों एमबीबीएस के लिए जारी NEET की प्रवेश परीक्षा में शोएब ने इतिहास में पहली बार 720 में 720 अंक प्राप्त किए । शोएब ने NEET प्रवेश परीक्षा में कठिन परिक्षम के बलबूते इतिहास बना दिया लेकिन उन्होंने इस का श्रेय अपने परिवार के साथ Allen कोचिंग संस्थान का भी दिया । बता दे, शोएब आफताब उड़ीसा के रहने वाले है, वो उड़ीसा के भी पहले टॉपर है । शोएब आफताब साल 2018 में कोटा के कोचिंग में एडमिशन लिया उंसके बाद उन्होंने कठिन परिक्षम के बलबूते ये मुकाम हासिल किया ।लेकिन शोएब आफताब के अलावा दिल्ली के सरकारी स्कूल की बच्चियों ने भी इतिहास रच दिया ।

दिल्ली के सरकारी स्कूल की 23 मुस्लिम छात्राओं ने NEET पास करके सभी को चौका दिया ।बता दे, दिल्ली की सरकारी स्कूलों के 569 छात्रों ने NEET क़वालीफाई किया इनमें से 379 छात्राएं है । इन छात्ररॉ ओ में जामिया नगर के नूर नगर इलाके एक सरकारी स्कूल की 23 छात्ररओ ने कमाल कर दिखाया है ।बता दे, NEET की राष्ट्रीय स्तर की प्रवेश परीक्षा में पास करने के लिए आमतौर पर छात्र बड़ी और महंगी कोचिंग में मोटी फीस भरकर इसे पास करते है ।

muslim NEET Result 2020

वही जामिया नगर के सरकारी स्कूल की छात्राएं ने नीट की प्रवेश परीक्षा पास कर इतिहास रच दिया है । ये छात्राएं आज शोएब आफताब की तरफ की सुर्खियां बटोर रही है ।नूर नगर स्थित सर्वोदय कन्या महाविद्यालय की वाईस प्रिंसिपल मुदस्सिर जहा का कहना है कि इस इलाके के लिए बड़ी ही गर्व की बात है । हमारे स्टूडेंट और टीचर ने बहुत मेहनत की है । उन्होंने आगे कहा कि हमारे बच्चे हमारी उम्मीदों पर खरे उतरे ।

उन्हों ने कहा कि हमे उम्मीद थी कि 15-18 स्टूडेंट इस प्रवेश परीक्षा को पास कर लेंगे लेकिन उन्हें ऐसे रिजल्ट की उम्मीद नही थी ।बता दे, सरकारी स्कूल से नीट पास करने वाली अधिकतर छात्राएं गरीब परिवार से ताल्लुक रखती है । 17 साल की अरीबा नईम ने बताया कि ये एक सामान्य सरकारी स्कूल है । मैं यहां 9 वी क्लास से पढ़ रही हु ।

muslim NEET Result 2020

मैंने नवी में 78 फॉसड जबकिं 12 वी में 83 फॉसड अंक प्राप्त किए थे ।अरीबा का कहना है सरकारी स्कूल में बहुत सारी सुविधाएं नही थी। मैंने हर रोज़ घर कर कार्य के बावजूद जितना पॉसिबल हो सकता था पढ़ाई की । अबु फजल एनक्लेव में रहने वाली इलेक्ट्रिशन की बेटी ने कहा कि वो इसका श्रेय अपने स्कूल और शिक्षकों को देती है ।

Leave a Comment