दिल्ली : मु’स्लिम मोहल्ले में अकेली फँसी थी हि’न्दू महिला, मु’स्लिम युवक के फेसबुक पोस्ट ने बचाई जा’न

दिल्ली में हुए नाग’रिक’ता सं’शो’धन का’नून को लेकर पिछले दो महीने से प्रोटेस्ट चल रहा है। लेकिन बीते दिनों CAA सम’र्थक और विरो’धी आमने सामने होने से स्थति तना’व’पूर्व हो गई। आजतक से मिली जानकारी मिलने और खबर लिखे जाने तक हिं’सा अब तक थम’ने का नाम नही ले रही है। तीसरे दिन तक भी ये हिं’सा जारी है। ये हिं’सा धीरे धीरे सम्प्र”दायि”कता रंग लेती जा रही है। जनसत्ता के अनुसार चार इ’लाकों में कर्फ़्यू’ लगाया गया है। इसमें जाफ रा’बाद, मौजपुर, क’रावल नगर और बाबर’पुर का इलाका शामिल है।

सोशल मीडिया पर टाइम्स ऑफ़ इंडिया के पत्रकार भी लिख रहे है कि ध’र्म देखकर ह’म’ले किए जा रहे है। पत्र’कार ने इस घटना का जिक्र किया है। इसी बीच एक मु’स्लि’म युवक ने एक मिसाल पेश की है। उस युवक ने एक हिन्दू ब्रा’ह्मण महि’ला की जा’न बचा’ई है। इस युवक की सभी लोग तारीफ कर रहे है। इस युवक का नाम मोहम्म’द अनस है। ये इलाहाबाद के झूंसी इलाके में रहते है और पत्र’कार भी है।

ऐसे लोगो की वजह से ही देश मे हि’न्दू मु’स्लिम भा’ईचारे के जिं’दा रहने की उम्मीद रहती है। मोह’म्मद अन’स ने मंगलवार को अपनी पोस्ट करते हुए अपील की थी मेरे एक बहुत करीबी दोस्त का परिवा’र हि’न्दू है वो दि’ल्ली के एक मु’स्लिम मो’हल्ले में रहते है। उनके घर पर उनकी माँ अकेली है। जो करीब 60 साल से भी अधि”क आयु की है। वो मुस्त’फाबाद में रहता है।

उनके घर पर थोड़ी देर पहले ही अ’टै’क हुआ है। अगर मुस्त’फाबाद के लोग मेरी पोस्ट पढ़ रहे है तो उनकी सु’र’क्षा करे। हाथ जोड़ कर विनती है मेरी। इस युवक की पोस्ट देख ते ही देखते तेजी से वा’य’रल हो गई। इसके बाद महिला को सु’क्षित बचाया गया।महिला को सुर’क्षित निकालने में सबसे अहम भूमिका मोमिन सेफी और शान अंसारी नाम के युवक ने की थी। पत्रकार मोहम्मद अनस ने एक पोस्ट में सैफी और अंसारी का शुक्रि’या अदा किया है।

बता दे, दिल्ली के कई इला’कों में हिं’सा भ’ड़क गई है। वहा पर कई दुकान और मकानों को नु’कसान हुआ है। कई लोगो घायल भी हुए है और कई लोगो की मौ”त हो गई है। इस हिंसा में एक पुलिसकर्मी की भी मौत हो गई है। बता दे, दिल्ली सीएम राजघाट पर मौन धारण किया हुआ है तो वही कांग्रेस ने सभी से शां’ति बनाए रखने की अपील की है।

Leave a Comment

close