भारतीय मूल की मुस्लिम महिला नौरीन हसन ने अमेरिका में रचा इतिहास, बनी न्यूयॉर्क फेडरल बैंक की उपाध्यक्ष

वैसे तो हर देश की मु’स्लिम महिलाओं ने भी अपनी देश का नाम रोशन किया है। वैसे ही न्यूयार्क ने एक मु’स्लिम महिला ने नाम रोशन किया है। भारतिय अमेरिका मूल की 25 वर्ष महिला नोरीन ह’सन को न्यू’यार्क के फेडर’ल रिजर्व बैंक को उ’पाध्यक्ष और मुख्य परि’चालन अधिकारी सीईओ भी बनाया गया है।

बैंक ने गुरुवार को जारी एक बयान में कहा गया है कि उनकी नियुक्ति 15 मार्च से शुरू होगी। इस’ नियुक्ति को बोर्ड ऑफ गवर्नर्स और फेडरल रिजर्व सिस्टम की ओर से मंजू’री दे दी गई थी। न्यूयार्क फे’डरल बैंक के अध्यक्ष और सीईओ जॉन सी विलि’यम्स ने बताया कि नोरिन लीड’रशिप बैकग्रा’उंड से है

naureen hassan

और इन्होंने कई टीमो का ने;तृत्व भी किया है । इनके पास कई सालों के अनुभव भी है। उन्होंने कहा है कि उन्हें विश्वास है कि नो’रीन इस पद पर रहकर दुसरो के लिए प्रेर’णा बने;गी और अनु;भव के साथ टीम का नेतृ’त्व भी क’रेगी।

नोरीन हसन ने पहले वि;त्तीय से;वा उ;द्योग में विभिन्न भूमिका भी निभाई है । जो मुख्य रुप से डि’जिटल और व्याय’सायिक प्र’किर्या परिवर्तन पर केंद्रित है। नोरिन हसन इससे पहले 4 सालों से मो;र्गन;स्टेनले में ध;न प्र’बंधन की मुख्य डिजि’टल अधि’कारी थी।

naureen hassan

हसन के माता पिता भारत के केरल राज्य के रहने वाले है। अमेरि’का में प्रवा’सी भारती’य रूप में यह रहे है। उनके पिता जावेद के . हसन आईबीएम में पूर्वसीनि’यर एक्जयुक्ति’व के पद पर काम कर चुके है। इसके अला’वा भी वो ग्लो’बल इंटर’कनेक्ट सि’स्टम के पूर्व अ’ध्यक्ष भी रह चुके है।

Leave a Comment