ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी में नकाब में रहकर ग्रेजुएशन करने वाली पहली मुस्लिम महिला बनी, 900 सालों के इतिहास में हुआ पहली बार

आज के दौर में मुस्लि’म महिला’ओं के अपने घर वालो का ना’म रोशन कर रही है। हर रोज कोई न कोई एक नई मि’साल देखने को मिलती है।आज हम आपको एक ऐसी ही कहा’नी से रु’बरु कराने जा रहे है। ऑ’क्सफोर्ड यूनिव’र्सिटी के 900 सालो के इति’हास में एक ब्रि’टिश पा’कि’स्तानी बह’न ऑक्स’फोर्ड

यूनि”वर्सिटी के नकाब में रहकर उन्हों के फिर ग्रेजु’एशन को पूरा किया है। ब्रि’टिश पाकि’स्ता’नी इस बहन ने सिविल लॉ में अपनी डिग्री को पूरा किया जो कि ऑक्स’फोर्ड की एक प्रेस्टी’जियस डि’ग्री मानी जाती है। दींन और दुनिया को कैसे साथ लेकर जाना है। उन्हीने इस बात को बेह’तरीन त’रीके से पूरा किया है।

दुनिया की सबसे बड़ी यूनिव’र्सिटी में से एक मानी जानी वाली यह यूनिवर्सिटी में यह पहला मामला है जो 900 सालो के बाद देखने को मिला है।यूनिव’र्सिटी के लेक्चर ने मीडिया से बात करते हुए बताया है कि यू तो कई मुसलामन छात्र आते है और पढ़ कर गए है।

उन्होंने आगे बताया कि लेकिन नका’ब मेआई इस लड़की ने अपनी पढ़ाई को पूरा कर लिया है और डिग्री हासिल की है।मु’स्लिम लडकि’या आज के दौर में हि’जाब में रहकर या न’काब पॉश होकड अवनी तालीम मुक’म्मल कर रही है।

उनको सभी लोग काफी ज्यादा पसंद कर रहे है और उनको आगे बढ़ने की दुआए दे रहे है। यह महिला दुनि’या मे उन मु’सल’मानो के लिए एक उदाहरण जो हि’जाबी को अड़च’न मानते है। उन्होंने इस बात के दिखाया है कि हम मु’सला’मन है और हम सभी काम को कर।सकते है।

Leave a Comment

close