फिलीस्तीन का फूटा गुस्सा, कहा-“UAE का अलअक्सा मस्जिद मामले में दखल देने का कोई हक नहीं”

यूए’ई ओर इ’जरा’इल के समझौता होने के बाद कई देश के ने’ताओ ने इसको सही बताया है तो कई देशों ने इसका वि’रो’ध किया है। यू’एई ओर इ’ज’राइल के डील पर साइन भी हो चुके है इसी को लेकर अमे’रिका के राष्ट्र’पति डोना’ल्ड ट्र’म्प ने इसको ऐतिहासिक डील बताया है। ट्र’म्प ने कहा था कि ये मिडिल ईस्ट के लिए नया सवेरा है ।यू’एई ओर इज’राइल के बाद अब बह’रीन ने भी समझौता कर लिया है जिसको प्रसंशा ओमान देश ने भी की है।

मिडिल ईस्ट के मॉनिटर की रिपोर्ट के अनुसार, फि’लिस्ती’नों रा’स्ट्रपति मह’मूद अब्बा’स के एक वरिष्ठ सहयोगी ने कहा है कि यू’एई को अ’ल अ’क़्सा’ मस्जि’द के मामलों में दखल देने की कोई जरूर’त नही है। दरअसल, यू’एई ने यहू’दियों को अल अक्सा मस्जि’द के अंदर अपने सभी कार्य करने की अनुम’ति देने के बाद इ’ज’राइल को पवित्र स्थल नबील शाथ को अलग करने की अनुमति दी है।

palestine news

इसको लेकर उन्होंने कहा है कि इन मामलों में यूएई को दखल देने की कोई जरूरत नही है।13 अगस्त को डोनाल्ड ट्रम्प ने यूएई और इज’राइ’ल के बीच वंशीनगटन द्वारा मध्यस्थता के बीच शांति समझौता की घोषणा की थी।बहरीन की शांति सम’झौते की ओमान ने भी तारीफ की है जिसके बाद माना जा रहा है कि ओ’मान भी सम’झौ’ता करने के विचार में है।

बीते दिनों ही व्हाइ’ट हा’उस में इस दौरान इ’ज’रा’इल के प्रधानमंत्री बेंजमीन नेतन्याहू यूएई और बहरीन के विदेश मंत्री भी मोजूदरहे। जिन्होंने 26 साल में पहली बार ही किसी शांति समझौता पर साइन किए है। इस मौके पर भी डो’ना’ल्ड ट्र’म्प ने कहा है कि आज इतिहास रचा गया है।

palestine news

ट्रम्प ने इस बात का संकेत दिया है कि इसी महीने में दो समझौते हो गए है और आगे भी कई बार ये देखने को मिलेगा। मिडिल ईस्ट के देशो ओर इजराइल के बीच फिलि’स्तिनी’यो के मुद्दे पर भी म’त’भे’द भी रहे है और इनके बीच 3 बार जंग भी हो चुकी है। अरब देशों की मांग रही है कि ऐसे फि’लि’स्ति’नी’यो के मुद्दे को पीछे छोड़ा जा रहा है उनके खि’लाफ अ’न्या’य हो रहा है।

Leave a Comment

close