“इस्लाम है सच्चा धर्म” दुनिया की ये तीन घटनाओ से हुआ साबित, जानिए क़ुरआन में लिखी आयतों का वैज्ञानिकों ने किया खुलासा

वैसे तो दुनिया’भर में बहुत सारे ध’र्म है। उनके मानने वाले भी है। हर धर्म में ईमा’नदारी का ही पाठ पढ़ाया जाता है।महर इ’स्लाम ध’र्म की बात की जाए तो इति’हास की तीन बड़ी घटनाओं में यह साबित कर दिया है कि इ’स्लाम वि’ज्ञा’न की कसौटी पर भी खरा उतरने वाला एक महा’न मज’हब है ।

मगर इन तीन घटना’ओं ने सारी दुनिया के वैज्ञा’निक को’यह मा’नने से मजबूर कर दिया है।1400 साल पहले मुस्लि’म समा’ज की सबसे पवित्र कि’ताब कुरान’ शरी’फ नाजि’ल हुआ। कु’रान शरी’फ में लिखा गया हर एक लफ्ज भी सच्चा’ई को बया’न करता है। इन तीन घ’टनाओं का जिक्र कु’रान शरी’फ में पहले ही हो चुका है।

madina news

आपको बता दे कि मिस्र के राजा फिरौन का भी जिक्र है। उस समय ह’जरत मू’सा न’बी थे।फि’रौन को स’मंदर के अं’दरडुबाने का जिक्र कु’रान श’रीफ में साफ लिखा गया है। 1898 मेस’मुद्र में एक श’व भी मिला था। जिसकी जांच से इस बात का पता चला था कि वह लाश हजा’रों साल पहले किसी रा’जा की थी।

इसके बाद में इस बात का पता लगाया गया कि यह किसी और कि नही बल्कि मिस्र के राजा की लाश थी।2004 में हिन्द महासा’गरएक भ’यं’कर सु’नामी आई थी। ऐसे में काफी भयानक तबाही मची हुई थी। मगर इंडो’नेशिया की कई म’स्जिदे जो कि बिल्कुल ही समन्दरों के किनारे पर थी।उनका बाल भी बां’का नही हुआ। सुना’मो की लह’रें अ’ल्लाह की घ’रों को नु’कसान नही पहुचाई।

quran

कुरा’न श’रीफ में इस बात को साफ लिखा गया है कि दो महासा’गरों को आपस मे मिलने की आजादी तो है लेकिन उनके बीच एक ऐसा खु’दाई प्र’तिबं’ध लगा गया है उनका पा’नी कभी नही मिलता। दरअसल हि’न्द म’हासागर और प्र’शांत महासा’गर का पानी कभी भी नही मिलता है।यह अल्ला’ह का एक करि’श्मा भी बताया गया है।

Leave a Comment