विश्वकप में बिखेरा था जलवा , अब राशिद खान को मिला ऐसा ईनाम हो गए खुद भी हैरान

इंग्लैड और वेल्स में विश्वकप 2019 खेला गया। इस क्रिकेट विश्व कप में जिस टीम पर सबका ध्यान था वो अफगानिस्तान ही रही। अफगान टीम को क्रिकेट खेलते हुए ज्यादा समय नही हुआ है लेकिन उनकी टीम के कुछ खिलाड़ियों ने अपनी प्रतिभा से सबका ध्यान अपनी ओर खींचा जरूर है। अफगानिस्तान टीम वैसे तो मुख्य तौर पर भारत में रहकर ही प्रशिक्षण ले रही है और उसके भारत से हॉम ग्राऊंड भारत के लखनऊ, गुवाहाटी जैसे शहरों में मुहैया कराए हुए है। यानी यू कहे कि अफगानिस्तान भारत में रहकर ही क्रिकेट की बारीकियाँ सिख रहा है। आज हम बात करने वाले अफगानिस्तान के स्टार स्पिनर राशिद खान की।

बात 2017 की है जब आईपीएल में पूरी दुनिया का ध्यान राशिद खान पर गया। सबसे ज्यादा विकेट लेने के साथ डिसीप्लीन के साथ गेंदबाजी करते हुए राशिद को देखना सबको भा गया। राशिद खान के अलावा अफगानिस्तान में पूर्व कप्तान नबी उनकी टीम को मजबूती प्रदान करते है। अफगानिस्तान क्रिकेट की एक अच्छी बात यही रही कि उनके पास वर्ल्ड क्लास स्पिनर है जो किसी भी बैटिंग लाईन अप को ध्वस्त करने की काबिलियत रखते है। अफगानि स्तान की स्पिन गेंदबाजी में गहराई दिखती है, डिसीप्लीन दिखता है, गेंदबाजी करने की कला को साथ विकेट लेने की क्षमता भी साफ दिखाई देता है।

विश्व कप से पहले अफगानिस्तान टीम से क्रिकेट प्रेमी अच्छी क्रिकेट देखने की उम्मीद लगाएँ थे। भले ही विश्वकप 2019 में अफगानिस्तान 1 भी मैच ना जीता तो लेकिन उन्होनें दिल जरुर जीता था। याद करो वो भारत के साथ होने वाला मैच, जब अफगानिस्तान की टीम अपनी फि रकी ले दम पर भारत के खिलाफ मैच को आखरी ओवर तक ले गए थे। अफगानिस्तान ने 2019 में एक मैच ओर याद किया जाएगा जो पाक के खिलाफ खेला गया। मैच के बाद अफ गान क्रिकेट टीम के सर्पोटर तो यही अफसोस रहा होगा कि काश आखिरी ओवर उनका कप्तान नहीं करता।

गोद टर्न ले रही थी, अफगान टीम मैच जीत भी सकती थी लेकिन न ई नवेली अफगान टीम जब तक कुछ समझ पाती तब तक पा क मैच जीत चुका था। अफगानी टीम को शाबाशी तो बनती है, शाबासी उसकी कि उसने विश्व की सबसे मजबूत टीम को टक्कर दी। भारत के क्रिकेट फैंस की तो साँसे मानों रुक सी गए थी। अफगानी लड़को ने क्रिकेट के मैदान पर अच्छा खेल दिखया लेकिन अपना माही मैच जिता ले गया। याद करो इस मैच में भी राशिद खान ने अपना जलवा दिखाया था।

शायद काबुल में हुए अफगानिस्तान क्रिकेट टीम बोर्ड का मिटींग में भी बाते जोर शोर से उठी हो कि लड़को ने अच्छा काम किया लेकिन कप्तानी पर सवाल तो उठना लाजमी था और हा हार तो हार होती है । अफगान कप्तान ने दिल तो जीता लेकिन गलतीयों से सबक नही लिया। यही गलतियाँ उनकी लिए विश्व कप के बाद उनका पीछा करते हुए अफगानिस्तान आ गई। नतीजा यह हुआ कि विश्व कप में अफगानिस्तान क्रिकेट टीम की कप्तानी करने वाले नायब से कप्तानी छिन ली गई।


अब कप्तान है वही आईपीएल के स्टार खिलाड़ी राशिद खान। कहते है राशिद की गेंदो में जा दू है। याद करो, विश्वकप शुरु होने से पहले अपने कप्तान कोहली ने भी तो कहा था कि उन्हें अगर विश्वकप में बेस्ट बॉलर को चुनना पड़े तो वह राशिद खान को चुनेगें। भला हो कोहली का उन्होने अफगानिस्तान बोर्ड को एक राह तो दिखा दी। कोहली की सलाह अपने देश में ही नही पड़ौसी देश में भी काम आ गए।

कोहली पीएम तो नहीं लेकिन क्रिकेट का सलाह देने के मामले में कम भी नहीं है। खैर, मुद्दे की बात तो यही है कि राशिद खान अब अफगानिस्तान क्रिकेट टीम के तीनों फॉर्मेट की कप्तानी करते हु ए दिखेगें टी20, वनडे 50-50 और टेस्ट मैच मे , लड़के की मेहनत रंग ला ही गई। आखिरी बात बताते चले विश्व कप में खराब चयन के कारण अफगानिस्तान क्रिकेट चयनकर्ताओं की छुट्टी कर दी गई।

Leave a Comment

close