फर्जी टीआरपी कांड: दो चैनलों के मालिक हुए गिरफ्तार, रिपब्लिक टीवी ने पैसे देकर बढ़ाई रेटिंग – मुम्बई पुलिस का बड़ा दावा

टीवी चैनलों की टीआर’पी को लेकर मु’म्ब’ई पु’लि’स ने गुरुवार शाम को एक के बाद एक कई बड़े खुला’से किए । आजतक के अनुसार मु’म्बई पु’लि’स क’मि’श्न’र परमबिर सिंह ने कहा कि पैसे देकर रिपब्लिक टीवी टीआरपी को बढ़ाता था । उन्होंने कहा कि टीआरपी बढ़ाने के लिए पैसे दिए गए । मु”म्ब’ई पु’लि’स के अनुसार रिपब्लिक टीवी लगातार टीआरपी की जोड़ तो’ड़ में लगा हुआ था।

मु’म्बई पुलि’स के कमिश्नर ने कहा अंग्रेजी चैनल कुछ अनपढों के घरों पर भी देखा जाता है जबकि कुछ बन्द घरों में भी टीवी चलता है। उन्होंने आगे कहा कि जिन घरों में टीआरपी मीटर लगा हुआ है उनको चैनल देखने के लिए पैसे दिए जाते थे । आजतक में छपी ताज़ा रिपोर्ट के अनुसार पुलि’स क’मिश्नर ने 2 मराठी चैनल के मालिकों को भी गिर’फ्ता’र किया है ।

republic tv news

उन्होंने कहा कि रिपब्लिक टीवी के खातों को सी’ज किया जा सकता है । परमबीर सिंह ने संकेत दिए है कि ज्यादा विज्ञापन के लिए ही टीआरपी का खेल खेला जाता रहा है ।मु’म्ब’ई पु’लि’स का दावा है कि हंसा कंपनी के पूर्व कर्मचा’री इस काम मे लिप्त थे, इस पूरे मामले में एक पूर्व कर्मचा’री समेत कई लोगों की गि’र’फ्ता’री हुई है ।

आजतक के अनुसार एक व्यक्ति के खाते से 20 लाख रुपये सीज किए गए है । जबकि बैंक लोकर से 8.5 लाख रुपये मील है ।परमबीर सिंह ने कहा कि शिकायत के बाद हमने धो’खा’ध’ड़ी का के’स दर्ज कर लिया है । इसमें रिपब्लिक टीवी का भी नाम सामने आया है। उन्होंने आगे कहा कि हमने जिन ग्राहकों से संपर्क किया उन्होंने मानां है कि रिपब्लिक टीवी देखने के लिए उन्हें पैसे दिए गए ।

republic tv

मुम्ब’ई पुलि’स ने उन ग्रहकों के बयान भी दर्ज किए है । मु’म्ब’ई पु’लि’स ने कहा कि इस गोर’ख’धं’धे में रिपब्लिक टीवी के प्रमोटरों का भी शामिल होने का अंदेशा है । उन्होंने कहा कि जो भी विज्ञा’पन चल रहे है उनकी जाँच की जाएगी । विज्ञानपनदाता से पूछा जाएगा कि क्या वे भी इस रै’केट का हिस्सा है या इसका शि’का’र हुए है ।

Leave a Comment

close