सालेह जबीन को मिली अमेरिकी सेना में अहम् जिम्मेदारी, बनी पहली मुस्लिम चैपलिन

भारत में जन्मी साले’हा ज’बी’न ने देश का नाम वि’देश में भी रोश’न किया है। वह अमे’रिका से’ना में शामि’ल होने वाली पहली मुस्लिम चैपलि’न भी बनी है। उन्होने ए’यर फो’र्स बेसि’ल चे’पलिन को’र्स भी किया हुआ था। अब वो आ”ध्यात्मि’क तोर पर इन मा’म’लों में में’ट’र के तौर पर अप’ना काम भी शुरू करेगी।

अमेरि’की से’ना में शामिल भारती’य मु’स्लि’म चैप्लि’न सले’हा जबीन में एक आ’ध्या”त्मिक सला’हकर के रूप में अपना क’र्तव्य को नि’भा सके’गी। बता दे, यह एक ऐसा पद होता है जिसमे धा’र्मिक मामलों’ के सला’ह देने वा’ला पे’शा’वर होता है। उन्हीने मी’डिया से बात करते हुए कहा है कि मैं इस पद को पाने के लिए बहुत ही ज्या’दा आभा’री हूं।

saleha jabeen
saleha jabeen

वो इस जिम्मे’दारी से इस बात को दिखाना चाहती है कि वो भी से’वा कर सकती है और एक सेना में जगज को पाने के लिए।उन्होंने कहा मुझे अपने किसी भी धा’र्मि’क वि’श्वास या फिर किसी भी प्रकाए से सम’झौ’ता न’ही करना पड़ा।मेरे आसपास ऐसेलोग है जो मेरा स’म्मान भी करते है।

एक आध्या’त्मिक नेता और एक।प्रवा’सी के तौर पर मेरे साथ काम करने को ले’लर भी बहुत ज्या’दा उत्सा’हित है। बता दे कि सलाह जबीन पिछले साल दिसम्बर के महीने में शि’का’गों में कैथो’लिक थि’योलॉ’जिकल यूनि’यन में बतौर सेक’द लेफ्टि’नेंट नियु’क्त भी किया गया’ था।

saleha jabeen
saleha jabeen

वह र’क्षा विभा’ग में नियु’क्त की गई थी। इसमे यह पहली मु’स्लि’म महि’ला चेप’लिन है। सा’लेह ज’बीन 14 साल पहले एक छात्र के तौर पर अ’मेरि’का आई थी। मीडि’या रिपो’ट्स के अनुसार उन्होंने नार्थ पार्क यूनिव’र्सिटी से बि’जनेस ओर इको’नॉमी में बीए किया हुआ है।

Leave a Comment