सऊदी अरब और यूएई ने इस गरीब मु’स्लिम देश को पहुँचाया तीन महीने का राशन, र’मज़ान महीने में …

दुनिया भर में क्रो’ना से हा’हा’कार मचा हुआ है । इससे दुनिया के तमा’म देशों की अर्थव्य’वस्था पर सीधा असर पड़ा है । अंतर’राष्ट्रीय मामलों के जान’कारों की माने तो क्रोना से अब तक सबसे ज्यादा नु’कसान यूरोप के कई मुल्क़ों को हुआ है । वही अमे’रिका में क्रो’ना से दुनिया मे सबसे ज्यादा मौ’त हुई है । कोरोना से पूरी दुनिया जूझ रही है। ऐसे में दुनिया के अमीर हो या गरीब देश दोनो की ही अर्थव्य’वस्था ख’राब हो रही है। को’रोना की वजह से गरीब देश के लोग भु’खम’री से लड़ रहे है।

ऐसे में गल्फ के 50 से अधिक मु’स्लिम मु’ल्कों के अलावा कई देश राहत कार्य मे सामने आ रहे है । बता दे, स’ऊदी अर’ब लगातार क्रोना इफ़ेक्ट पर कड़े कदम उठा रहा है । स’ऊदी अरब ने वर्ल्ड हे’ल्थ को बीते महीने क्रोना के लिए वैक्सी’न बनाने के लिए बड़ी रकम दी थी , जिसके बाद उसकी काफी सरा’हना हुई थी। अब सऊदी के एक और काम से चारो तरह तारीफ हो रही है ।सऊदी ओर संयुक्त अ’रब अमीरात के पहल में मु’स्लिम ग’रीब देशो को खुश किया है।

सऊदी प्रेस एजेंसी के मुताबिक, सऊदी अरब ने यूएई इए साथ मिलकर सूडान के लोगो की मदद करने का फैसला किया है। इन दोनों देशों ने सूडान को 540000 टन गेंहू भेजने का फैसला किया। सूडान की स्थानीय समाचार एजेंसी ने इस बात की पुष्टि की है। इस अनाज के जरिए करीब 3 महीने तक खाना खाया जा सकेगा।

बता दे कि इसमें से करीब 280000 टन गेंहू सप्लाई किया जा चुका है। अप्रैल में राष्ट्रपति ओमर अल बशीर को स’त्ता से ह’टा दिया गया था। शां’तिपूर्ण प्रद’र्शनों के बादसूडान के तत्कालीन राष्ट्रपति ओमर अल बशीर को ग’द्दी छोड़’नी पड़ी थी। सऊदी अरब और यूएई ने ये जानकारीदी है कि 500 मिलियन डॉलर सू’डान के केंद्रीय बैंक में डाले जा चुके है।

सूडान में बशीर को ह’टा’ए जाने के बाद सेना और नागरिक समूह के बीच सत्ता हस्तां’तरण को लेकर बातचीत चल रही थी। लंबे समय तक चली वार्ता का नतीजा सका’रात्मक आया है। मि’लिट्री शा’सकों और विप’क्षी गठबं’धनों के बीच एक संवै’धानिक डिक्ले’रेशन साइन किया जा चुका है।

Leave a Comment

close