हिजाबी मुस्लिम महिला ने सर्बिया संसद में पहुुँचकर रचा इतिहास, दुनियाभर से मिल रही दुआएँ, पहली बार हुआ ऐसा

हर मुस्लिम देश में मुस्लिम महि’लाए छाप छोड़ती हुई नजर आ रही है । चाहे राजनीति में हो , एजुकेशन में हो। , संगीत में हो या वैज्ञानिक तौर पर हो हर क्षेत्र में मु’स्लिम महिलाओं का दबदबा दिन ब दिन बढ़ता हुआ जा रहा है । मु’स्लि’म महिलाओं ने अपनी मेहनत, लगन के बल पर अपनी पहचान बनाने के लिए कदम आगे उठाया है और हर देश मे हर क्षेत्र में महिलाए आगे बढ़ रही है। पहले के दशकों में ऐसा नही होता था पुरुषों के बराबरी में महिलाओं को आगे नही आने दिया जाता था

लेकिन आज के दौर में महिलाओं को बराबरी के रुप में देखा जाता रहा है । बीते दिनों हमने आपको बताया था कि अरब मुलको ने पहली बार 200 वैज्ञानिकों के साथ मिलकर मंगल ग्रह मिशन पर रॉकेट भेजा था, उसकी अगुआई दुबई की महिला अल अजीजी ने की थी । अरब दुनिया को इस मिशन से बड़ी उम्मीद भी है ।

इसी तरह सऊदी मिशन 2030 के लिए बड़े बड़े उद्देश्य साथ लेकर चल रहा है, वो यूरोप की तरह चलना चाहता है इस तरह के बयान सऊदी सरकार की तरफ से आते रहते है । इसी कड़ी में सऊदी सरकार ने संगीत की दुनिया मे नाम कमाने के लिए सऊदी संगीत अधिकारी के तौर पर चुना था । इसी तरह हम आपको आज बताने जा सर्बिया की संसद महिला केबारे में ।

सर्बिया के इतिहास में यह पहली बार ऐसा हुआ है कि संसद में मिसाला प्रमेनकोविक नाम की एक मुस्लिम हिजबी महिला ने इतिहास रच दिया है। इससे पहले सर्बिया संसद में कोई हिजाबि महिला सदस्य नही थी। पार्टी का नेतृत्व सर्बिया के पूर्व मुफ़्ती मुअमेर जुकोर्लिक ने किया है।

बता दे कि मिसाला गाजी ईसा बेग मदरसा में इस्लामी विज्ञान की प्रोफेसर के रुप में काम करती है। पोस्टिंग होने के बाद मिसाला ने कहा है कि मैं विशेष रूप से महिलाओं, बच्चों, परिवार और परिवार के मूल्यों की स्थिति के अधिकारों की वकालत करूंगी। उन्होंने बताया है कि मेरे लिए राजनीति में प्रवेश करना मुस्लिम महिलाओं के बारे में आने वाले दिनों में मुकाबला करने का एक मौका है।

सर्बिया में 50,000 मुस्लिम रहते है। सर्बिया में मुसलमानों की सबसे ज्यादा आबादी सघनता सेंडिवाक क्षेत्र में नोवी पजार, टूटीन और सजेनिक की नगर पालिकाओ में है ।इसके अलावा presevo घाटी और bujanovac के नगर पालिकाओं में मुस्लिम आबादी रहती है।

Leave a Comment