अखबार बेचने वाले व्यक्ति की बेटी बनी IAS, बिना किसी कोचिंग के पहली की कोशिश में मिली सफलता

उत्साह और किसी भी कठिन परि’श्रम से ल’क्ष्य को हा’सिल किया जा सकता है। ह’रियाणा की बेटी शिव’जीत भरती सैनी की जीव’न के कड़े सं’घ’र्षों के बाद उन्होंने आई’एएस का अफ’सर हा’सिल किया है। भा’रती एक अखबार बेचने वाले गुरनाम सैनी की बेटी है

लकिन फिर भी उन्होंने सभी प्रति;यो;गिता को कड़ी टक्कर दी है। हरि’याणा में सिवि’ल सर्विस परीक्षा में कुल 48 परीक्षार्थी कामया’ब हुए है। जिनमे भारतीय का नाम शामिल।है।शिव’जीत भार;ती और उनका सारा परिवार हरि;याणा के जय’सिं’हपुरा गांव में रहते है।

वहां पर उनके पिता अख’बार बेचने का काम किया करते है। भारती ने अपनीं घर की परि’स्थिति’यों को देखकर यूपी’एससी में इस म’काम को हासिल किया है।मी;डिया से बात करते हुए भरती ने बताया है कि उन्होंने कभी भी को;चिंग नही।ली। सिर्फआत्म’विश्वास की वजग से उन्होंने इस मु’काम को हासिल किया है।

उनकी मेहन;त रं;ग लाई और पहले ही प्रयास में उन्होंने हरियाणा में यह परीक्षा को पास किया है।एक मी;डिया चै;नल के द्वारा जब उनका इंट;रव्यू लिया गया तो उन्होंने कहा कि जब उनकी शि;क्षा पूरी हो गई थी तब उनके माता पिता चाहते थे कि वह शादी कर ले उनके आ;स पड़ो;स और

रि’श्तेदा’रों परिवार वाले द्वारा उन पर शादी करने को लेकर जोर दिया जा रहा था लेकिन उन्होंने कहा कि जब तक वह कुछ नही बन पाती है जब तक वह शादी नही करेगी। उन्होंने घर पर ब’च्चों को ट्यू’शन प’ढ़ाने का काम किया और उन्हीं पैसों से किताब को खरीदा।

Leave a Comment

close