दिल्ली : कोर्ट ने कहा- तब्लीगी जमात के लोगों के खिलाफ सबूत नहीं, आठ को किया बरी

कोरो’ना वाइ’रस की वजह से मार्च के महिने से दो महीने तक का लो’क डाउ’न लगाया गया था। मार्च महीने में दिल्ली के मर’क’ज से को’रो’ना हॉट’स्पॉट बताकर मीडि’या ने खूब सुर्खियां बटौरी थी । बता दे, मार्च में तब्ली’गी जमा’त के लोग काफी सुर्खियों में थे, वजह थी नि’ज़ामुद्दीन का तब्ली’गी मर’कज जिसमे तब्ली’गीयो पर को’रो’ना फै’ल’ने तक के ‘इ’ल्जा’म मीडि’या ने लगाए थे ।

ईनके खि’ला’फ वी’जा श’र्तों के उ’ल्लंघ’न करने और मि’शनरी गति’वि’धि’यों में लि’प्त होने और सर’का’र की तरफ से दी गई गाइड’लाइंस का पाल’न नही करने की वजह से दि’ल्ली पु’लि’स ने 995 विदेशि’यों को आरो’प पत्र भी दिया था । बता दे, इनमें से बहुत से लोग याचि’का दायर करके अपने देश पहुँच गए थे । हालांकि इनमें से ही कुछ लोगो ने दिल्ली में रहने का फैसला जब तक कि उन पर लगे आरो’पो के खिला’फ कुछ निर्णय आमने नही आ जाता है ।

tablighi jamaat

दिल्ली के एक अ’दाल’त ने हाल ही में साकेत जिला को’र्ट में ट्रा’यल का सामना कर रहे तब्ली’गी ज’मात से जुड़े आठ लोगो को सोमवर(24 अगस्त 2020) को बरी कर दिया है। सुनवाई के दौरान को’र्ट ने कहा है कि उनके खि’ला’फ कोई भी सबू’त नही है। बता दे कि तब्ली’गी जमा’त के आरो’पमु’क्त किए गए 8 लोगो मे दो इंडोनेशिया से, एक किर्गिस्तान से, दो थाईलैंड से,एक नाइजीरिया से, एक कजाकिस्तान से और एक व्यक्ति जॉर्डन से है।

इसके अलावा अदाल’त ने इनके अलावा बचे 36 विदे’शी अधिनिय’म की धारा 14 और आईपी’सी की धारा 270 और271 के तहत आरो’प’मुक्त कर चुकी है। हालांकि ये अभी भी महा’मा’री अधिनियम, आपदा प्रबंध अधिनियम और आईपीसी की अन्य धाराओं के तहत खुदपर लगे आ’रो’पो का सामना कररहे है।

tablighi jamaat

आपको बता दे कि चीफ मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट गुरमोहन कोर ने आठ तब्ली’गीयो को आरो’प मु’क्त करते हुए कहा है कि उस अवधि के दौरान न तो उनकी उपस्थिति दिखाते है और न ही उनके मरक’ज के कार्यक्रम में भाग लेने के बारे में पता चलता है।

कोर्ट ने आगे कहा है कि इस बात को बताने के लिए कोई दस्तावे’ज भी न’ही है कि वो तबलीग से जुड़े किसी कार्यक्रम में से एक थे।को’र्ट ने आगे कहा कि इनकी न तो रजिस्टर की कॉपी ज’ब्त की गई है और न ही कोई रिकार्ड रखा गया है ।

tablighi jamaat

कोर्ट ने ये भी कहा कि एसडीएम की सूची में भी ऐसे तब्लीगीयो का रिकॉर्ड नही है जो हॉस्पि’टल गए है या कवारं’टीन भेजे गए है। उन्होंने ये भी कहा कि जो मरकज का हिस्सा रहे उनकी लिस्ट नही दी गई हैजिन्हें को’रो’ना की पुष्टि की हुई है ।

Leave a Comment