खिदमत-ए-खल्क़ में तुर्की रहा दुनिया भर में दूसरे स्थान पर, 8.04 बिलियन डॉलर किए खर्च

तु’र्की को ग’री’बो का मसी’हा कहे जाने के साथ ही अब वो दूसरे देशों की मदद करने के लिए आगे बढ़ता रहा है। तु’र्की देश कई देशों की मदद करने के साथ ही ऐसे कई काम भी कर चुकी है। जिसकी वजह से तु’र्की के नाम भी रो’शन हो रहा है।

हाल ही में यू’को आ’धा’रित डेवलपमेंट इनि’शिएटिव की एक हा’लिया रिपोर्ट में इस बात का पता चला है कि तुर्की वि’श्व स्तर पर सबसे बड़े मा’नवी’य दाता’ओं में से एक रहा है। जो अर’बों डॉ’लर की स’हायता भी ख़र्च कर रहा है।साल 2020 में तुर्की के वै’श्विक स्तर मान’वीय सहायता 26 प्रति’शत भी रहा था।

turkey global humanitarian aid

यह अमेरिका के बाद दूसरे स्थान पर भी रहा है। तुर्की ने $ 8.04 बिलियन भी खर्च किए है।जबकि अ’मेरिका इस लिस्ट में 8.9 बिलियन डॉलर भी खर्च कर रहा है।इन देशों के बाद जर्मनी, यूरोपीय संघ और यूके भी है। जर्मनी ने 3.7 बिलियन डॉलर, यूरोपी’य संघ ने 2.6 बिलियन डॉलर और

यूके ने 2.1 बिलियन डॉलर भी खर्च किए है। इसके अलावा भी लगज्म बर्ग,स्वीडन, नार्वे , डे’नमार्क भी मा’नवीय दा’ताओं मे भी शामिल है।बता दे कि तुर्की देशसाल 2013,2014औऱ 2015 में DI किरिपोर्ट में तीसरे स्थान पर, 2016 में दूसरे और 2017, 2018 और 2019 में पहले स्थान पर रह है।

turkey global humanitarian aid

बतात्ते चके की तु’र्की लगभग 4 मिलियन शर’णार्थि’यों की मेजबा’नी भी करता है। जो दुनिया के किसी भी देश मे सबसे अधिक भी है। तु’र्की देश मे अस्था’ई सुरक्षा कानून के तहत सीरि’याई लोगो की संख्या 3.68 मिलियन भी है।

Leave a Comment