एर्दोगन उठाने जा रहे खाड़ी देशों की एकता के लिए बड़ा कदम, बोले- शांति के लिए कुछ भी ….

तु’र्की के रा’ष्ट्रपति रजब तैयब ए’र्दो’गन के उ”त्तरी सीरिया पर कु’र्दो पर ह’म”ले के बाद लगातार एक के बाद एक अमेरि’का को लेकर बया’न आ रहे है। इस कड़ी में एर्दो’गान ने कहा कि शांति और स्थितरता के युग की शुरुआत खा’ड़ी क्षे’त्र ओर म’ध्य पू’र्व में होनी चाहिए । खा’ड़ी दे’शों से कत’र पर प्र’ति’बन्धों को तुरंत ही ख’त्म करने और शां’ति की दि’शा में काम करने के लिए तु’र्की की प्र’तिब”द्धता को ब’हाल करने का आग्र’ह किया है।

ए’र्दोगान ने आगे कहा कि मुझे लगता है कि अब ना”काबंदी को ख’त्म करना का समय आ गया है। उन्होंने शांति स्थिरता और सहयोग की एक नई अवधि शुरू करना बेहद जरूरी है। ए’र्दो’गान ने राष्टपति के विमान में पाँचवे भाग लेने के लिए आधिका रिक यात्रा से वापस जाने के रास्ते पर संवाददाताओं को इस बात की जानकारी दी है।

एर्दोगान ने कहा कि दोनो देशो ने सं’कट के वक्त में एक दूसरे का स’मर्थन किया था। त’ख्ता”प लट के प्रयास और अन्य ह’मलों के दौरान क़तर का स”मर्थन नही था। अंकारा ने पूरे ना”का”बं दी में दो”हा का समर्थन किया था। एर्दोगा’न ने कहा कि जिन लोगो ने ना’का’बंदी लगवाई थी वे अ”सफल रहे। क़तर ने इस प्रकिया में खुद को मजबूत किया।

राष्ट्रपति ने कहा कि इस क्षेत्र में आंतरिक संघर्ष सीए’फ ऊर्जा बर्बाद कर रहा है । शां’ति स्थापित करने के लिए एक नई अवधि शुरू करने का समय है।आपको बता दे, बीते महीने तुर्की में बसे श’रणा’र्थियों को उ’त्तरी सी”रिया में बसाने को लेकर पूरी दुनिया मे एर्दोगन ने सुर्खियां बटौरी थी ।

qatar

एक तरफ जहां अरब के कई देश चुप रहे थे तो कतर ने खुलकर एर्दोगन का समर्थन किया था । एर्दो”गन का कतर के अलावा रूस ने साथ देते हु ए कु’र्दो के खिला’फ उत्त”री सी”रिया ने सैन्य” अभि”यान किया था। बता दे, अभी भी तुर्की और रूस की सेना मिलकर उत्तरी सीरिया की बॉर्डर पर पहरा दे रही है ।

Leave a Comment

close