मुस्लिम भाई-बहन ने रचा इतिहास, पहले ही प्रयास में इंस्पेक्टर की परीक्षा में सफलता का लहराया परचम

हर परीक्षा कोई छोटी और बड़ी नही होती है। अगर इंसान लग्न और मेहनत से अपने पढ़ाई को जारी रखता जा तो उसे एक न एक दिन सफलता जरूर मिल जाती है।एक ऐसी ही कहनी एक ही परिवार में जन्मे दो भाई बहनों की है। जिन्हीने कई मुश्किलात का सामना करते हुए कभी भी हिम्मत नही हारी और अपने

खानदान का नाम रोशन किया है। छपरा शहर के गुदरा निवासी अल्पसंख्यक समुदाय के मेधावी भाई बहनों ने पहली ही बार मे ही दरोगा की परीक्षा को पास किया है। मोहम्मद हारून रशीद और रूही फातिमा यह दोनों भाई बहन शुरू से ही पढ़ाई की और आकर्षित रहे है।

two real brothers sisters saran bpsc

उन्होंने आगे कहा है कि वो अपने तैयारी को आगे जारी रखते हुए बीपीएससी और यूपीएससी की परीक्षा की तैयारियों करेंगेपहली ही बार मे दरोगा की परीक्षा को पास करने के बाद मोहम्मद हारून का कहना है कि सच्ची लगन और मेहनत हो यो आपको सफल होने से कोई भी

नही रोक सकता है। हारून रशीद ने अल्पसंख्यक कल्याब विभाग द्वारा हज भवन से संचलित क्लास का सहारा लेकर रोजाना ही 4 से 5 घण्टे तैयारी को भी जारी रखा ह। उन्हीने छात्रों से भी यही अपील की है कि मेहनत से सफलता जरूर मिलती है।

रूही फातिमा का कहना है कि मुझे कानून के दायरे में रहकर महिलाओ की मदद करने का मौका मिला है। मैं पूरी ईमानदारी के साथ महिलाओ को न्याय दिलाने के लिए अपने प्रयास को जारी भी रखूंगी।

Leave a Comment