UAE को इजराईल से समझौता करना पड़ा महँगा, फिलीस्तीन ने UAE से वापस बुलाया राजदूत और नागरिकों ….

यूएई और इजरा’इल के बीच समझौते को लेकर कई देशों में वि’रो’ध हो रहे है, फि’लिस्ती’न से मोहब्बत करने वाले लोग सड़कों पर आ गए है । बहरी’न जॉ’र्डन, मि’स्र और ओ’मान जैसे मु’स्लि’म मुल्कों ने इस डील का स्वागत किया है। तो वही तु’र्की, ई’रा’न ने इस डी’ल पर कड़ा वि’रो’ध भी जताया है। अब्बास ने इस फैसले को प’लटने के लिए यूएई के आहान किया है जो इजरा’इल को औपचारिक रूप देता है।

उन्होंने अब अन्य अरब देशों से फि’लि’स्तिनी अधिकारियों की कीमत पर यूए’ई के उदाहरण की पालना नही करने का आग्रह किया है। ह’मा’स जो फिलि’स्ति’नी जगह पर गा’जा प’ट्टी पर निवास करता है उसने भी इस समझौते की निं’दा की है। हमा’स ने कहा है कि इसे हमारे लोगों की पी’ठ में छु’रा घोपना क’रार दिया है । हालांकि अ’मीराती नेताओ ने वेस्ट बैंक के एक बड़े हिस्से की इजरा’इली घो’षणा को है और इस कदम का ब’चाव किया है।

uae israil deal

आपको बता दे, यूएई इस फैसले के बाद बै’कफुट’ पर आ गया है । यूएई को चौतरफा वि’रो’ध का सामना करना पड़ रहा है । तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब एर्दोगन ने कहा है कि यूएई ने मुस्लि’मों से धो’खा किया है और इसे उसकी कीमत भी चुकानी होगी । बता दे, फि’लि’स्तीन मु’द्दा पूरी दुनिया के मु’सल’मा’नों के लिए अहम है । पहला कि’बलाए अव्वल बैतू’ल मुक़्क़’द्दस यही फि’लि’स्तीन में मौजूद है ।

पूरी दुनिया के मुस्लि’म किसी के भी साथ किसी भी कीमत पर फि’लि’स्तीन के साथ समझौता नही करते है । बीते दिनों 86 साल बाद जब हागिया सोफिया में नमाज पढ़ी गई उंसके बाद तुर्की सदर एर्दोगन ने एक बयान में कहा था कि उनका अगला कदम बैतू’ल मुक’द्दस को आज़ाद कराना है ।

uae israil deal

बता दे, फिलि’स्तीन में मस्जिद ए अक़्सा मौजूद है जो काफी अहम है । यही से आका ए दो जहा सल्ला’हु अलै’हि व’स्सलम मे’राज गए , यही पर प्यारे आका स’ल्लाहु अलै’हि वस्स’लम ने तमाम न’बियों की इमामत की थी । यह पाक जमी’न को दुनिया भर के मुस्लि’म किसी भी कीमत पर किसी को नही देना चाहते है।

Leave a Comment