इस मुस्लिम देश के पास है दुनिया की सबसे अमीर कंपनी, Google और Apple इसके सामने है चींटी

स’ऊदी अ’रब की कम्पनी अ’रामको ने बीते 1 साल में 111 अरब डॉलर का मुनाफ़ा हुआ है। यह दुनिया में किसी भी एक कम्पनी की सबसे बड़ी कमाई बताई जा रही है। वही अगर दुनिया में दूसरे नंबर की सबसे अधिक कमाई वाली कम्पनी की बात करें तो उसमें एप्पल का नाम आता है। एप्पल ने बीते साल करीब 60 अरब डॉलर की कमाई की थी। सऊदी अरब में बहुत तादाद में कंपनियां है , जिससे वहां पर रोजगार के अवसर प्राप्त हो जाते है।

रि’लायंस इं’डस्ट्रीज लि’मिटेड के चैयरमैन मुकेश अम्बानी ने हाल ही में यह घोषणा की है कि उनकी कंपनी का करार स’ऊदी अ’रब की अ’रामको से हुआ है। हाल ही में इसकी चर्चा भारत में हो रही है। उन्होंने बताया कि तेल के र’सायन वाले रि’लायंस के कारोबार में स’ऊदी अ’रामको नि’वेश करेगी। इस खबर ने लोगो को उत्साह भरा जरूर है। भारत की खुदरा बिक्री के बाजार में सऊदी अरामको के एंट्री लेने से भारत को भी फायदा होता हुआ दिख रहा है।

सऊदी अरामको ने यह फैसला भारत में अधिक वाहन होने के कारण लिया है। इससे पहले फ्रांस की एएसए कम्पनी ने भी भारत में पेट्रोल पंप खोलने की इच्छा जाहिर की थी। सऊदी अरब में ऐसी बहुत सारी कम्पनिया है ,जिन्हें दुनिया की सबसे ज्यादा मुनाफ़ा कमाने वाली कंपनियों में शुमार किया जाता है। उन कम्पनियो में से एक कम्पनी है जिसका नाम आज सभी की जुबां पर है।

उस कम्पनी का नाम सऊदी अरामको है। इसके साथ ही अब एक और खबर आ रही है। खबर है कि सउदी अ’रामको जल्द ही भारत मे अपने नाम से पे’ट्रोल पम्प खोलेंगी। इस बारे में एक तेल कारोबारी ने बताया कि यह एक महत्वपूर्ण कदम साबित होगा । यह भा’रत में कू’टनीति और ऊ’र्जा सु’रक्षा के लिहाज से यह मिल का पत्थर साबित हो सकता है। इस बारे में अब तरह तरह लगने शुरू हो गए है।

ऐसा भी कहा जा रहा है कि जो भा’रत मे रि’लायंस के पे’ट्रोल प’म्प है, उनमें स’ऊदी भी हिस्सा ले। इसकी बड़ी स’म्भावना है कि आने वाले दौर में स’ऊदी अ’रब की इस कंपनी के पे’ट्रोल पम्प भारत में भी नजर आए। उल्ले खनीय है कि सारी दुनिया मे कारोबार मं’दी जैसे हालातो में सऊदी का यह बड़ा कदम भा’रतीय अ’र्थव्य’वस्था को मजबूती प्रदान करने में मदद करेगा। भारत ने इसका दिल खोलकर स्वागत भी किया है।

हालांकि कुछ जानकर ये भी जानते है कि रि’लायंस इंड’स्ट्रीज के ये हालात अच्छे नही है। यही कारण है कि कंपनी को अपने हि’स्सेदारी के 20% हिस्से को बेचना पड़ा है। इस बात को लेकर रि’लांयस के करीबी जानकार खारिज करते है । वो दावा करते है कि उनकी ये बात चीत काफी समय से चल रही है। जिसमे अब एक नतीजा निकला है। यह भारत वासियों के लिए एक अच्छी खबर कही जा सकती है।

Leave a Comment

close