Terms and Conditions

Terms And Conditions Of Muslmanehind News

आपके द्वारा दी गई जानकारी की सुरक्षा के लिए हम पूरी तरह से प्रतिबध्द है। यह जानकारी कुछ भी हो सकती है जैसे कि आपका नाम , आपका पता , आपका ईमेल और आपका मोबाईल नम्बर इत्यादी। मुसलमान ए हिन्द न्युज आपकी कुछ निजी जानकारियाँ हासिल करता है ऐसा हम आपको अपनी पूरी सेवाएँ बाधा मुक्त उपलब्ध करवाने के लिए आपकी निजी जानकारी एकत्रित करते है।

यदि आप हमें आपकी निजी जानाकारियाँ देते हैं तो हमारा कर्तव्य है कि हम आपकी निजी जानकारियों की सुरक्षा करें। कई बार आप देखते हैं कि हमारी वेबसाईट पर दूसरी वेबसाईट के लिन्कस रहते हैं। यदि आप उन लिन्कस पर क्लिक करते हैं तो उसकी पूरी जिम्मेदारी आप पर होती है। आपको ऐसी किसी भी लिन्कस के जरीए कोई भी बाधा आती है तो इसके लिए मुसलमान ए हिन्द न्युज जिम्मेदार नहीं होगी।

जब आप मुसलमान ए हिन्द न्युज की वेबसाईट पर आते हैं तो यह वेबसाईट कूकी का भी उपयोग करती हैं। कूकी टेक्स्ट फाईल में होती हैं जिसे आपसे आपका कम्प्युटर हमारे सर्वर को याद रखता है। कूकी अपने आप में किसी यूजर को नहीं पहचानता है वह सिर्फ कम्पयुटर को जानता हैं। ज्यादातर साईट इसका उपयोग करते हैं ताकी इस बात की जानकारीयाँ मिल सके कि कितने लोगों ने उनकी साईट देखी हैं। कूकी का काम सिर्फ यह जानकारी देना है कि आप किन पेजों पर जा रहें हेैं और कितने समय तक उन पेजों पर रहते हैं।

कम्प्यूटर में यह सुविधा होती है कि आप उसे सेट कर दें तो वह सारे कूकी़ज को याद रखे या फिर एक भी कूकी को दर्ज ना करें। हम कूकी का इस्तेमाल इसलिए करते हैं कि ताकि आपका अनुभव हमारी वेबसाईट पर बेहतर हो सकें और हम अच्छा से अच्छा कंटेंट आपको दिखा सकें। यह सब काम हम गुगल की वेबसाईट गुगल एनालिटिक्स के जरीयें से करते हैं।

यदि आप मुसलमान ए हिन्द न्युज पर कोई आक्रामक , अनुचित या आपत्तिजनक सामग्री भेजते हैं या कोई भ्रामक व्यवहार करते है , या किसी पर अभ्रद टिप्पणी करते है या किसी भी समुदाय के धर्म , जाति और अथवा पवित्र ग्रंथो पर अभ्रद टिप्पणी करते हैं तो आपकों ऐसा व्यवहार करने से रोकने के लिए आपकी व्यक्तिगत जानकारियों का उपयोग किया जा सकता हैं। ऐसे में आपकी निजी जानकारीयाँ भारतीय सुरक्षा एजेंसियों से साझा की जा सकती हैं।

हम मुसलमान ए हिन्द न्युज पर आने वाले सभी विजिटरों का तहेदिल से शुक्रीया अदा करते हैं। सभी विजिटरों को यह भी कहते हैं कि आप सत्य खबरों को पहचानें , किसी को भी नुकसान ना पहुँचाएं , सभी धर्मों का सम्मान करे और सदा खुश रहें। शुक्रीया।

close