‘आज़म खान को रिहा करें या फिर मुझे इच्छा मृत्यु’, महिला ने खून से लिखा राष्ट्रपति को पत्र

आजम खान को भगवान स्वरूप मान उनकी पूजा करने वाली रामपुर की एक दलित महिला नेहा राज ने राष्ट्रपति की अपने खू’न से प’त्र लिखक’र इ’च्छा मृ’त्यु की मां’ग की है। 26 मई 2019 से ‘सीता’पुर जे’ल में बं’द समा’जवा’दी पा’र्टी के वरि’ष्ठ नेता और रा’मपुर के सांसद

आजम खान को रिहा किए जा’ने की मां’ग उठा दी है। कहा जा रहा है कि आज’म खान के साथ इं’साफ न’ही किया गया। ऐसे में अब नेहा ने रा’ष्ट्रप’ति की इच्छा मृत्यु की मांग की है। उन्होंने पत्र में लिखा कि मेरा ना’म नेहा राज है। मैं दलि’त समा’ज से हूं। मैंने 25 मई 2021 को देश के

राष्ट्रपति महो’दय को एक पत्र अपने खू’न से लिखा था। उसमें मैने आज’म खा’न की रिहा’ई की मांग की थी। आजम खान पिछले 2 साल से जे’ल में बं’द है। नेहा राज ने कहा आजम खान की खता यह है कि उन्होंने दलि’त ग’रीब मजदू’र के हाथ मे कल’म देने का काम किया।

लेकिन अब वो उसकी स’जा का’ट रहे है।नेहा राज ने एगे कहा कि मैं आजम खान को भ’गवान की तरह पूजती हूं। मैं आज’म खान पर जु’ल्म ज्या’दातर होते हुए नही देख सकती। इसलिए मैने राष्ट्र’पति को अपने खू’न से पत्र लिखा।\

उन्होंने आगे कहा कि राष्ट्रपति आजम खान के साथ इंसाफ करे या फिर मुझे इ’च्छा मृ’त्यु की अनुमति दे। हम ऐसे देश मे नही रहना चाहते है जिसमे लोकतंत्र के साथ खि’लवा’ड़ हो रहा हो। इसमे मौजूदा सर’कार लो’क’तंत्र के साथ खि’लवा’ड़ कर रही है।

Leave a Comment

close