यह भारतीय लड़की कि है दुनिया कि सबसे बेहतरीन हैण्डराइटिंग , कम्प्यूटर भी हैरान हो जाए

Spread the love

आज के आधुनिकीकरण के दौर मे कम्प्यूटर ने हमारे जीवन को काफी अच्छी तरह जकड़ रखा है। कुछ भी छोटा सा छोटा काम करना हो हम कम्प्यूटर पर ही करते है। आज के दौर कि बात करें तो कई कॉलेज ,स्कूल और रोजमर्रा की जिंदगी में कम्प्यू टर काफ़ी अहम् हो गया है।जिससे बड़ो से लेकर बच्चो में भी लिखने की आदत कम हो गई है। जिसकी वजह से बच्चो को लिखने मे काफी कम दिलचस्पी रह गई। जि सका परिणाम खराब हैन्डराइटीगं के रूप मे हम देखते ही है माना जाता है। कि हैन्ड राइटीगं किसी भी शख्श की स्कील का हिस्सा होती है।जो उसके इम्प्रेशन को भी दि खाती है।

वैसे तो हर इन्सान स्कुल लाइफ से लेकर असल जिन्दगी तक अच्छी हैन्डराइटीगं की चाहत करता है। मगर बहुत कम लोग की ही अच्छी हैन्डराइटीगं होती है। आज इस लेखे आपको हम ऐसी ही एक बच्ची के बारे मे बता रहे है। जिसकी हैन्डराइटीगं दुनिया मे सब से खुबसूरत आंकी जा रही है। आज हमको उस बच्ची के बारे में बता ने जा रहे है। प्रकृति मल्ला नाम की इस लडकी की हैन्डराइटीगं ऐसी है मानो जैसे कम्प्यूटर से प्रिंट आऊट निकाला है। प्रकृति अभी महज आठवीं क्लास मे पढती है।

नेपाल की रहने वाली है वो अभी सैनिक आवासीय स्कुल मे अध्ययनरत है। प्रकृति की हैन्ड राइटीगं देखकर अक्सर लोग हैरान हो जाते है। प्रकृति मल्ला की हैन्ड राइ टीगं आप तस्वीर मे देख सकते है। जो कि वाकई अद्भुत कला का एहसास कराती है। अच्छी हैन्डराइटीगं होने के कारण नेपाल सरकार तथा सेना की तरफ से प्रकृति को पुरस्कार भी दिया जा चुका है। अच्छी हैन्डराइटीगं से काफी अच्छा इम्प्रेशन पडता है। एग्जामे मे कापी चैक करने मे सरलता के साथ नम्बर अच्छे होने के चान्स भी र हते है। प्रकृति आम तौर पर रोजाना दो घंटे लिखने की प्रैक्टिस करती है।

Leave a Comment

close