स्कूल बस का रंग पीला क्यों होता है ? जानिए इसकी असली वज़ह

बीते कुछ साल पहले आमिर खान की एक फिल्म ‘पीके’ आई थी। जिसमे उन्होंने दुसरे प्लेनेट के निवासी का रोल अदा किया था। वो पृथ्वी पर आ जाता है लेकीन रि मोट चोरी हो जाने के कारण अपने प्लेनैट पर वापस नही जा पाता है।पुरी फिल्म मे पीके अपना रिमोट तलाश करने के लिए पीला रगं का हैल्मेट पहनकर घुमते रह ते है।जब अनुष्का शर्मा इस पीले हेल्मेट के बारे मे पुछती है कि पीले कलर क्यो पह ना है /तो वो कहते है कि पीले रंग दुर से ही नजर आ जाता है। मैने भी इसे इसलिए पह ना है ताकी भगवान मुझे देखकर समझ जाए की रिमोट मेरा है।

इसी तरह हमारे शहरो,गावों मे काफी चीजे ऐसी होती है। जो पीले रगं की रंगी जाती है जिनमे से बच्चो की दैनिक जीवन मे काम आने वाली स्कुल बस भी पीले रगं की ही होती है। क्योंकि पीला रगं दुर से ही नजर आ जाता है। कोहरे मे भी पीले रगं की बस आसानी से नजर आ जाती है। साथ ही सु प्रीम को र्ट ने भी आदेश दे रखा है। कि स्कुल बसो को पीले रगं से रंगे। विशे षज्ञों का मानना है कि पीले रगं गहरा होने के सा थ आकर्षक भी है। अतः लाल की जगह पीला रगं चुना जाता है। साथ ही यह बाकी रगों के मुकाबले 1.24 गुणा ज्यादा आकर्षक होता है।

बता दे , रेलवे स्टेशन को अक्सर पीले रंग से रंगा जाता है। रेलवे स्टेशनें के बोर्ड को भी पीले रंग से रंगा जाता है। आखिर पीले रंग का इस्तेमाल इतना ज्यादा क्यू होता ? उम्मीद है आप समझ गए होगें। अक्सर किसी भी चीज ज्यादा दूर देखने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है। इस से दु र्घ टना होने की संभावना कम होती है और यह कलर दूर से ही नज़र आता है। अक्सर हम लोग शहरौं में चलने वाली टैक्सी की नम्बर प्लेट पर भी यही पीला रंग देखते है। इसका भी यही कारण है कि यह टैक्सी दूर से नज़र आ जाती है। कि ये किसी खास शख्स या नॉर्मल आने जाने के लिए नहीं है।

Leave a Comment

close