जानिए, हर रोज़ ‘मस्जिद अल हरम’ की सफाई कितने हज़ार लोग करते है ! इत्र से मस्जिद को ..

सऊदी अरब । दुनिया के सबसे पवित्र शहर मक्का और मदीना यही मौजूद है। यह दो पाक म स्जिदों की रमजान के मुकद्दस महीने में रौनक बढ़ जाती है । इन मस्जि दों में इस माह भारी तादाद में दुनिया भर से मुसलमान आते है । ऐसे तो इन मस्जि दों की रोज़ाना साफ सफाई और देखरेख होती है लेकिन रमजान के मुकद्दस महीने में रोज़ा ,नमाज और इफ्तार के समय यहाँ खास ध्यान रखा जाता है । सऊदी प्रेस एजेंसी ने एक न्यूज प्रकाशित की है जिसमें कहा गया है कि दो पवित्र मस्जिदों की साफ सफाई का खास धयान रखा जा है ।

इन मस्जिदों में इत्र से महकाने का भी कार्य किया जाता है। इन मस्जिदें अनुमा नि त में एक लाख वर्ग किलोमीटर के एरिये में इसके फर्श , इसकी सतहों , पियाजो को पोछ और स्टरलाइज करना शामिल है । सऊदी न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक राष्ट्रपति ने इन मस्जिदों की साफ सफाई के लिए 2000 से अधिक पुरुष और महिला कार्यक र्ताओं को रखा है । यह 24 घंटे मस्जिद की साफ सफाई करते है । यह दुनियाभर से किसी भी तीर्थयात्रियों , आगुन्तकों और रोजेदारों को इबादत में बिना बाधा डाले यह कार्य को करते है ।

बता दे , इन कार्यकर्ताओ को ग्रैंड मस्जिद को साफ करने में केवल 45 मिनट लगते है । मताफ की सफाई में इन्हें केवल 30 मिनट का समय लगता है। यह कार्य बड़ी बड़ी सफाई की मशीनों के द्वारा दुनिया की सबसे उच्च तकनीक से किया जाता है । इन दोनों मस्जिदों की सफाई के लिए 30 विशेष विधुतयुक्त कारे , 67 दूसरी अ न्य मशीनें उपयोग में ली जाती है । बता दे , मताफ की सफाई और स्टाइलाइज़ क रने के लिए 400 लीटर पानी का उपयोग किया जाता है ।

सफाई प्रक्रिया में यूज किए जाने वाले पानी की मात्रा माता टाफ के 12 वर्ग मीटर के लिए एक गिलास पानी ही इस्तेमाल होता है , जिसका एरिया तकरीबन 500 वर्ग मीटर होता है । सफाई करने वाली उच्च तकनीक की मशीनें किसी भी आगुन्तकों को नुकसान नही पहुँचाती है । यह सभी मशीनें इलेक्ट्रॉनिक और पर्यावारण के अनु कूल है । इन सफाई के लिए इस्तेमाल होने वाला डिटर्जेंट भी स्पेशल है । ये डिटर्जेंट सुरक्षित और जैविक है । ग्रैंड मस्जिद और इसके पियाजो से रोज़ाना 100 टन कच रा हटाने के लिए एक अलग टीम कार्य करती है ।

यह कचरे की मात्रा रमजान या हज के दौरान बढ़ कर 300 टन रोज़ाना तक हो जा ती है । इन कचरों को कम से कम समय मे हटाने केन्लोये विशेष दल और अत्या धुनिक मशीने इस्तेमाल की जाती है । ग्रैंड मस्जिद के अंदर और बाहर 2,000 से अधिक कचरा डैम्परस रखे गए है या प्रदान किए जाते है । दुनिया भर से आए जा यरीन ने ग्रैंड मस्जिद की सफाई और राष्ट्रपति द्वारा दिए जाने वाली सेवाओं की तारीफ करते नही थकते है । राष्ट्रपति ने मस्जिद अल हरम के अंदर तकरीबन 1500 कचरे के डिब्बे भी रख रखे है ।

इसके अलावा इस मस्जिद में 1500 पानी के कंटेनर भी स्थापित किए गए है । इ न का इस्ते माल सफाई करने में और मस्जिद अल हरम को चमका ने में किया जाता है । बता दे , 126 क्लीनर 1983 बाथरूम साफ करते है जबकि हरम शरीफ के अंदर करीब 21 अपर्वतक एरियो और इसके बाहर भी 10 कर्मचारी काम करते है । मस्जि द अल हरम के बाहर शौचालयों को साफ करने के लिए 230 पुरुष और महिलाएं का र्य करती है ।

350 महिला क्लीनर के तौर पर यहाँ कार्य करती है । यहाँ पर कॉर्पेट जे धूल और पानी सोखने के लिए भी 70 से ज्यादा लोग इसमें 24 घंटे लगे रहते है वही इसमे 100 से ज्यादा वाहन भी इस्तेमाल में किए जाते है । बता दे , 70 अत्या धु निक वाहन हरम अल शरीफ और उसके आस पास के प्लाजा कि सफाई का कार्य देखते है । इनमें से 44 अल हरम के अंदर जबकि 22 प्लाजा में कार्य करते है ।

Leave a Comment

close