मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता ने दी चेतावनी, कहा-“मीडिया माफ़ी मांगे नहीं तो करेंगे क़ानूनी कार्यवाही”

को’रोना वाय’रस का मामला भारत मे तेजी से बढ़ता हुआ जा रहा है । लेकिन सो’शल सा’इट पर कई यूजर का मानना है कि बीते सप्ताह से यहां पे क्रो’ना को धा’र्मिक रूप दे दिया गया । बता दे, जब से निजा’मुद्दीन मर’कज से जमा’त के लोग पॉजि’टिव पाए गए है। इस मर’कज से जुड़े 8 लोगों की मौ’त हो गई है। ग्रह मंत्रा’लय ने कहा है कि इस साल म’रक’ज में शामिल होने वाले 2100 लोग विदेशी थे।

निजा’मुद्दीन मरक’ज के प्रमुख मौला’ना साद के बारे में मीडि’या उनका फ़ो’टो बार बार दर्शकों बता रही है। इस बात पर मुस्लिम पर्सनल बोर्ड के प्रवक्ता मौला’ना खलील उर रहमान सज्जाद ‘नोमानी ने मीडिया के एक वर्ग द्वारा उनकी तसवीर बार बार दिखाने को लेकर ए’त’रा’ज जताया है। मौलाना नोमानी ने कई मीडिया संस्थानो को लिखित पत्र में कहा है कि अपनी इस ग’लती के लिए बिना श’र्त मा’फी मांगे।नोमानी ने कहा है कि अगर मी’डिया मा’फी नही मां’गता है तो वो का’नूनी का’र्यवा’ही करेंगे।

उन्होंने कहा है कि निजा’मुद्दी’न मर’कज को लेकर उठे हुए वि’वा’दों में टी’वी चैनलों, अखबा’रों ने मरकज के मौला’ना साद को लेकर ख’बरे प्रसा’रित की है। उनको दो’षी ठह’रा’या है। नोमानी ने इस महामारी से जुड़ीरि’पोर्ट में सं’यम और जिम्मे’दारी दिखाने की अपील की है। उन्होंने आगे कहा है कि मेरे अ’नुरोध के बाद भी मेरी तस्वीर का इस्ते’माल आगे किया जाता है तो कानू’न कार’वाही करने के सिवाय कोई विक’ल्प न’ही है।

नो’मानी ने कहा है कि उन्होंने पीएम मोदी के लोक डा’उन का समर्थन किया है। उन्होंने अपनी बात आगे बढ़ाते हुए कहा कि समाज के सभी लोगो को एकजुट होने की जरूरत है। ये सम”य जाती, धर्म और मजहब से ऊपर उठकर कोरो’ना से लड़’ने का है। पूरी दुनिया की नजर इस वक्त भार’त की तरफ है। बता दे, पूरी दुनिया में क्रो’ना वायर’स का स्तर लगातार बढ़ता हुआ जा रहा है ।

खबर लिखे जाने तक पूरी दुनिया में 70 हज़ार से अधिक लोगों की मौ’त हो चुकी है और 12 लाख से अधिक लोग संक्र’मि’त हो चुके है । बता दे,अमेरिका को अब तक बड़ा नुक’सान झेल’ना पड़ा है , वहां पर 3 लाख के करीब लोग संक्र’मित हो चुके है । वही 4 हज़ार से अ’धिक लो’गों की मौ’त हो चुकी है । बता दे, अगर दुनिया मे सबसे ज्यादा मौ’त के आं’कड़े की बात करे तो इट’ली के है जिसमें करीब 15 हज़ार के करीब मौ’त हो चुकी है । बता दे, यूरोप के कई देश इसमे भ’यं’क’र च’पे’ट में आए है ।

Leave a Comment

close