मुस्लिम परिवार ने ढ़ाई करोड़ रूपये की जमीन दुनिया के सबसे बड़े मंदिर के लिए दान की

देश मे तमाम मस’लों पर धा’र्मि’क म’तभे’दों के बीच बिहार में सम्प्र’दा’यिक सौहा’र्द की मिसा’ल का’यम करने वाली एक खबर सामने आई है। यहां एक मु’स्लि’म परि’वार के दुनि’या के सबसे बड़े मं’दिर के नि’र्माण के लिए अपनी 2.5 करोड़ रुपए की सम्प’त्ति को दान कर दिया है।

यहां पर दुनिया का सब्से बड़ा मं’दिर वि’राट रा’मायण मंदिर का निर्माण पूर्वी चंपारण के केटवलि’या इ’लाजे में हो रहा है। बीते दिनों ही रिपोर्ट्स से बातचीत करते हुए पटना के महा’वीर मं’दिर ट्रस्ट के प्रमुख आचार्य किशोर ने इस बात की जानकारी दी है।

उन्होंने कहा है कि इश्तियाक अहमद खान ने जमीन को दान कर के का फैसला किया है। वो पूर्वी चंपा’रण से ताल्लुल रखते है। उनका गुवा’हाटी में कारोबार है।”पूर्व आईपीएस अफसर कुणाल ने कहा है कि पूर्वी चम्पायन के सब डिवीजन केश’रिया के र’जिस्टर्स ऑ’फिस में यह औप’चारिक’ता पूरी की गई है।

आचार्य ने कहा है कि इश्तियाक खान के परिवार द्वारा यह भूमि दाब में देना सामा’जिक सौ’हार्द और भा’ईचारे की बड़ी मिसाल है।मु’स्लि’मो के सहयोग के बिना यह सुनहरे प्रोजेक्ट पूरा होना बहुत मु’श्किल था। महा’वर मं’दिर ट्रस्ट अब तक मंदिर निर्मा’ण के लिए 125 एकड़ जमी’न को प्राप्त कर चुका है।

यह मंदिर 12वी सदी पुराण है।अं’गको’रवार मं’दिर की ऊंचाई 215 मीटर है। पूर्वी चंपा’रण के परिसर में ऊंचे शिखरों वाले 18 मं’दिर भी होंगे। इसके शिव मंदिर के दुनिया आया सबसे बड़ा शि’वलि’ग होगा। इस मंदिर की लागत करीब 500 करोड़ रुपए होगी।

Leave a Comment

close