जनरल स्टोर में काम करने वाले आबिद अली विप्रो के बने थे CEO, अब इस वजह से दे रहे इ’स्तीफ़ा

कभी जनरल स्टोर में काम करने वाले आबिद अली देश की सबसे बड़ी आईटी कंपनी विप्रो के सीईओ बने तो सभी हैरान थे । इसकी बड़ी वजह थी वो जहाँ से निकले है, वो एमपी का छोटा इलाका है । और उनका परिवार भी काफ़ी गरीब हुआ करता, मेहनत , मशक्कत के बाद अली न ये नाम कमाया था।लेकिन एक बार फिर आबिद और उनका इलाका नीमच फिर सुर्ख़ियो में है ।

मध्य्प्रदेश के मालवा इलाके के नीमच में जन्मे आबिद के पिता इसी छोटे से इलाके में जनरल स्टोर चलाते थे। विप्रो में आने से पहले आबिद टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज का हिस्सा भी रहे थे। आईआईटी से पास होने के बाद वो कम्पनी का हिस्सा रहे और कई पदों पर नियुक्ति की गई थी। 23 साल तक टाटा से जुड़े रहने के बाद उन्होंने विप्रो ज्वाइन किया था।

सबसे खास बात यह है कि आबिद को कम्पनी में लाने के लिए विप्रो ने पहली बार अपनी कम्पनी में सीईओ का पद बनाया था।आबिद मार्च 2019 में नीमच आए थे। दरअसल, आबिद यूएस में अपनी पत्नी हसीना और तीन बच्चों के साथ रहते हैं। वो नीमच एक दिन रुके थे। नीमच में उनकी खबर सोशल मीडिया पर चर्चे हो रहे है।

आखिर आबिद नीमचवाला ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया , इस्तीफा क्यो दिया ये मीडिया में चर्चा का विषय बना हुआ है ।। खबरों की माने तो आबिद अली ने अपने परिवार के कारण विप्रो के।सीईओ पद से इफ्तिफ़ा दिया है । वो अब अपने परिवार के बीच रहकर बाकी का समय गुजारना चाहते है ।

नीमच वाला ने अप्रैल 2015 में बतौर ग्रुप प्रसिडेंट और चीफ CEO के पद पर कम्पनी जॉइन की थी। फरवरी 2016 में वह कम्पनी के CEO बनाए गए थे। बता दे, आबिद अली तब तक सीईओ के पद पर बनें रहेंगे जब तक कोई दूसरा सीईओ कम्पनी को नहीं मिल जाता है। अब सभी लोग आबिद अली की नई पारी का बेसब्री से इंतज़ार कर रहे है।

Leave a Comment

close