हलाल भोजन का इंतजाम करती है टीम, नहीं हुआ कभी भेदभाव : एजाज़ यूनुस पटेल

मुम्बई में जन्मे न्यूजीलैंड के आम स्पिनर गेंदबाज एजाज पटेल के लिए पिछले कुछ दिन सपनो के साकार होने जैसे मुंबई मे कारनामा किया हैं। एजाज के भारत के खिला’फ मुम्बई में खेले गए सीरीज के दूसरे और आखिरी टेस्ट की पहलीं पारी के सभी 10 विकेटी लेकर इतिहास के स्व’र्णि’म प’न्नो में अपना नाम को दर्ज किया

33 वर्षीय इस गेंद’बाज की अभी भी इस बात का वि’श्वास न’ही हो रहा है कि उन्होंने इतने बड़ी बरा’बरी’ की है। न्यूज़ी’लैंड लौटने से पहले उन्होंने मीडिया से बात करते हुए बताया है किन्यूज़ी’लैंड के युवा गेंद’बाजो को इससे प्रेर’णा मिलेगी। एजा’ज ने इस मौके पर न’स्ल’वा’द और साल 2019 में

ajaz patel cricinfo

क्रा’इ’स्टच’र्च में म’स्जि’द पर हुए आ’तं’क’वा’दी ह’म’ले के बारे में बात कही। ऐसे वक्त में जब ब्रि’टिश एशियाई क्रिकेक्टर अजीम रफीक की और से लगाए गए न’स्ल’वा’द के आ’रो’प से इंग्लैंड के भे’द’भा’व में भूचाल आया है। जब एजेज ने कहा कि न्यूजीलैंड में उन्हें कभी भे’द’भा’व का सामना नही करना पड़ा।

उन्होंने न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम की ता’रीफ करते हुए कहा है कि वह मेरी सं’स्कृ’ति और मेरी मा’न्यता’ओं का बहुत ज्यादा ख्याल करते है। जैसे कि अगर मुझे कोई ह’ला’ल खाने की आ’वश्यकता होती है तो वो कही से भी मंग’वाए लेकिन जरू’र मंगवा’ते है।

ajaz patel cricinfo

न्यूजीलैंड में बस’ना और स्पिन गेंद’बाजी करना यह एजाज के लिए काफी ज्या’दा कारगर रहे है और टेस्ट क्रिकेट के 144 साल लम्बे इतिहास के बाद एक पारी में सभी 10 विकेट चटका’ने वाले तीसरे गें’दबाज बन गए है

Leave a Comment

close