फि’लिस्तीन ने अ’मेरिका की Deal Of The Century को किया खा’रिज़, जानिए ‘डील ऑफ़ सें’चुरी’ के बारे में

इ’जराइ’ली और फि’लिस्ती’नी’यो के सबसे प’वित्र स्थ’ल को लेकर वि’वाद बहुत पुराना है। यह वि’वाद मुख्य रूप से ये’रुशलम को लेकर है। यही पर म’स्जिद ए अ’क्सा भी है । यह पहले मु’सल’मान का किब’लाए अव्वल भी था । अब मस्जि’दे अ’क्सा के लिए नया वि’वाद खड़ा हो गया है । अमे’रिका के राष्ट्रप’ति डो’नाल्ड ट्र’म्प ने इ’राइल और फि’लि’स्तीन के बीच समझौता कराने के लिए एक डी’ल ऑ’फ द सेंचु’री को पेश किया है।

यह इस सदी की सबसे बड़ी डी’ल मानी जा रही है। जिसमे उन्होंने ये’रुश’लम को इज’राइल की राज’धानी बनाने का प्रस्ताव दिया है। इससे पहले बीते साल अमे’रिका ‘येरु’श’लम को इज’रा’इल की राज’धानी घो’षित कर चुका है। अ’मे’रिका ने बीते साल 12 मई को फि’लि’स्तीन में मौ’जूद ते’ल अ’वीव में अपना अ’मेरि’की दूता’वा’स खोला था। यह म’स्जि’द ए अ’क़’सा के पास स्थित है ।

डी’ल ऑफ सें’चुरी क्या है ? जानिए इस डी’ल के तहत जॉर्ड’न वेली ,गो’लान की पहा’ड़ियों, जू’डी , सु’मेरा और येरु’शलम को अमेरि’की राष्ट्रप’ति डोना’ल्ड ट्रम्प ने इस’राइल को दे दिया है । इसमें 1947 में रिफ्यू’जी हुआ फिलि’स्तीन ना’gरिक वापस इस रा इल में नही जा सकता है । बता दे, इसमें यू’एई , बह’रीन, ओमा’न ने मिलकर ट्र’म्प की डील ऑफ सेंचुरी में सहयोग दिया है।

डी’ल ऑफ सें’चुरी को लेकर फि’लि’स्तीन की तरफ़ से बयान जारी किया गया है। फि’लिस्ती’न ने डील ऑफ सेंचुरी का विरोध करते हुए कड़ी आपत्ति जताई है । वह इसका हर तरह से वि’रो ‘ध कर रहे है। फि’लिस्ती’न के प्रवक्ता अबु’रुदीन्ह ने कहा कि इ’जरा’इल जो फि’लि’ स्तानी लोगो का सपना तोड़ने का प्रयास करने की सोच रहे है उन्हें का’मयाब नही होने देगे । हमारे नेता और जनता हमारे साथ है। हम इतने सालों से संघर्ष कर रहे है। हम इसको ह’रा’कर ही बताएंगे।

उन्होंने कहा कि हम एक बड़ी रैली आयोजित करेंगे जिसमे सभी संघ’टनो को शामिल किया जाएगा। ब ता दे 12 मई वही तारीख है जब इज’राइल का निर्मा’ण हुआ था, ट्रम्प ने सोचस’मझकर इस तारीख का ऐलान किया और दूता’वा’स ओपन किया था ।बता दे कि ट्र’म्प ने 28 जनवरी को वा’इट हा’उस में इ’जरा’इल के प्र’धान’मंत्री के साथ बैठक की थी। जिसमे उन्होंने कहा कि हम इसको और ज्यादा वि’कास से बड़ा सकते है। बता दे, येरुश’ल’म एक रे’ड ला’इ’न है।

Leave a Comment

close