वसीम जाफ़र ने क्रिकेट की दुनिया में हासिल की ये बड़ी उपलब्धि , अचानक इस देश से आया बुलावा और फिर ..

भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज वसीम जाफर को बड़ी सफलता मिली है । हाल ही में जाफर की बदौलत उनकी घरेलू टीम विदर्भ ने रणजी टूर्नामेंट जीता था। अब जाफर को बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने अहम जिम्मेदारी देकर उन्हें सराहा भी है । जाफर को बांग्लादेश के मीरपुर स्थित अपनी अकादमी के लिए बतौर बल्लेबाज सलाहकार नियुक्त किया है । बांग्लादेश क्रिकेट बोर्ड ने इसकी पुष्टि कर दी है । बीसीबी खेल विकास प्रबंधक कैसर अहमद ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि वसीम जाफ़र को 1 साल के लिए बीसीबी अकादमी में बतौर बल्लेबाजी सलाहकार नियुक्त किया है ।

उन्हें मई से अप्रैल 2020 तक ये अहम जिम्मेदारी दी है । अहमद ने बताया कि पहले वसीम जाफ़र अंडर-16 और अंडर-19 आयु वर्गों की टीमों को कोचिंग भी देंगे । जाफ़र को इसके बाद उनके कार्यो को देखते हुए बीसीबी हाई परफॉरमेंस यूनिट में भी अहम जिम्मेदारी दी जा सकती है । बांग्लादेश की मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार वसीम जाफ़र पहले 6 महीने बांग्लादेश के युवा बल्लेबाजो को बल्लेबाजी के गुर सिखाएंगे । बता दे ,जाफ़र ने भारत की तरफ से कुल 31 टेस्ट मैच खेले है जिनमे उन्होने 1944 रन बनाए है ।

वह 2 एकदिवसीय क्रिकेट मैचों में भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व भी कर चुके है । भारत के घरेलू टूर्नामेंट में सबसे अधिक रन बनाने वाले भारतीय बल्लेबाज 41 वर्ष की आयु में भी खेल रहे है ।हाल ही में उन्होंने घरेलू मैचों में दौहरा शतक लगाया था , उनकी टीम को रणजी ट्रॉफी जीताने में वसीम जाफ़र की अग्रणी भूमिका भी रही थी। बता दे ,जाफ़र घरेलू क्रिकेट में 14 हज़ार से ज्यादा रन बना चुके है । जाफ़र ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि उनके पास अब ज्यादा खेलने के लिए समय नही है ।

उनके लिए क्रिकेट ही नशा है और वे इसी नशे की वजह से अभी तक 41 वर्ष की आयु में क्रिकेट खेल रहे है । जाफ़र ने ये भी कहा कि जब तक क्रिकेट को लेकर उ नके अंदर आग है तब तक वो क्रिकेट खेलते रहेंगे ।वसीम जाफ़र ने पिछले 2 सी जन विदर्भ की टीम की ओर से खेले है ।वसीम जाफ़र के टीम में आने से विदर्भ पि छले 2 सालों में 4 खिताब जीत चुका है, जिनमें 2 रणजी, 2 ईरानी कप शामिल है ।

बता दे , वसीम जाफ़र भारत मे दिग्गज क्रिकेटरों में शुमार किए जाते है । ऐसे उन्हें भारतीय टीम में ज्यादा मौका नही मिले लेकिन फिर भी जाफ़र की भारतीय क्रिकेट में काफी अहमियत मानी जाती है ।उन्हें रणजी का चैम्पियन बल्लेबाज माना जाता है ।उनकी बेटिंग के बड़े से बड़ा दिग्गज भी सलाम करता है ।हाल ही में हुए रणजी ट्राफी में उन्होंने टूर्नामेंट में 41 साल की आयु में सबसे ज्यादा रन बनाकर इतिहास रचा था ।

Leave a Comment

close